Types of operating system( Operating system ke prakar ) ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होतें हैं?

Types of operating system( Operating system ke prakar) ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होतें हैं ? Operating System एक Process और Memory को प्रबंधित करने जैसे सभी बुनियादी कार्यों को करता है। इस प्रकार operating system सभी resource के प्रबंधक यानी की संसाधन प्रबंधक के रूप में कार्य करता है। इस प्रकार, ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ता और मशीन के बीच एक interface बन जाता है।

Types of operating system( Operating system ke prakar) ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होतें हैं ?
Types of operating system ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होतें हैं?

Operating System क्या हैं ?

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर और Computer उपकरण के ग्राहक के बीच एक प्रतिनिधि के रूप में कार्य करता है। एक कामकाजी ढांचे के पीछे प्रेरणा एक ऐसा माहौल देना है जिसमें एक ग्राहक सहायक और उत्पादक रूप से कार्यक्रमों को क्रियान्वित कर सके।

वर्किंग फ्रेमवर्क एक ऐसा उत्पाद है जो Computer उपकरण की देखरेख करता है। उपकरण को Computer स्थिति की सही गतिविधि की गारंटी देने और ग्राहक कार्यक्रमों को ढांचे की उपयुक्त गतिविधि को बाधित करने से रोकने के लिए उपयुक्त उपकरण प्रदान करने चाहिए।

इन्हें भी जरुर पढ़ें

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार ( Types of operating system )

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार निन्मलिखित हैं आप सभी यह पोस्ट अन्तिम तक जरुर पढ़ें ताकि आपको ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार के बारें में जानने में किसी भी प्रकार के कोई दिक्कत का सामना ना करना पड़ें

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार ( Types of operating system )
ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार ( Types of operating system )
  • Simple Batch System
  • Multiprogramming Batch System
  • Time Sharing System
  • Parallel And Distributed Operating system

Simple Batch System– Types of operating system

Simple Batch System में उपयोग करता और कंप्यूटर के बीच परस्पर क्रिया नहीं होती है इसमें दोनों को एक दूसरे से Communicate करने के लिए मध्यस्थ व्यक्ति की आवश्यकता होती हैं

इसमें उपयोगकर्ता अपने कार्य को पूरा करके ऑपरेटर को दे देता है जो लिखित रूप में होता है इसके पश्चात ऑपरेटर उन विभिन्न कार्यों को Batch के रूप में कंप्यूटर में टाइप करके भेजता है

इस भेजे गए विभिन्न Jobs को भाषा के अनुसार एक दूसरे से जोड़ते हैं इसके पश्चात एक विशेष प्रकार के प्रोग्राम के द्वारा प्रत्येक Batch प्रोग्राम को Execution किया जाता है

Processing की क्रिया पूर्ण हो जाने के पश्चात उन्हें मुख्य मेमोरी से Primary Memory में स्थानांतरित कर दिया जाता है यह क्रिया प्रत्येक Jobs के पूर्ण होने तक चलते रहते हैं और अंत में Main memory को अन्य ऐसी Execution के लिए रिक्त कर दिया जाता है

Disadvantages of simple batch processing

  • इसमें किस जॉब को पहले करना है और इसके बाद में इसके लिए प्राथमिकता का निर्धारण करने के लिए कोई सूत्र निर्धारित नहीं किया गया है
  • इसमें उपयोगकर्ताओं और सिस्टम के बीच बिल्कुल भी कम्युनिकेशन नहीं होता है जिसकी वजह से अनेक जॉब ऐसे होते हैं जो ऑपरेटर के द्वारा गलत तरीके से कर दिया जाता है

Multiprogramming batch System-

इस तकनीक में ऑपरेटिंग सिस्टम किसी एक जॉब को ऐसी execution के लिए लेता है और तुरंत उसका Execution आरंभ कर देता है जब उस जॉब के प्रोसेस को आगे करने के लिए किसी प्रकार के इनपुट की आवश्यकता होती है

उस दौरान उस जॉब को wait state में रखकर अन्य जॉब का प्रोसेस आरंभ कर दिया जाता है इस प्रक्रिया में मेमोरी की समस्या हो जाती है हो सकती है इसके समाधान के लिए जो जॉब wait state में होता है

उसे मैन मेमोरी से सेकेंडरी मेमोरी में स्थानांतरित कर दिया जाता है Multiprogramming System का लाभ यह है कि इसमें सीपीयू Idle Stage में नहीं पहुंच जाता उसके पास लगातार प्रोसेस के लिए जॉब उपलब्ध होता है

Time sharing system-Types of operating system

जब एक ही कंप्यूटर में अनेक उपयोगकर्ता अलग-अलग कार्य करते हैं तो का Time sharing की आवश्यकता होती हैं इसमें एक ही प्रोसेसिंग यूनिट से अनेक टर्मिनल कीबोर्ड माउस इत्यादि को जोड़ दिया जाता है इससे अलग अलग प्रोसेसिंग यूनिट लगाने का खर्चा बढ़ जाता है और एक ही प्रोसेसिंग यूनिट में अनेक उपयोगकर्ता अलग-अलग कार्य कर सकते हैं

क्योंकि एक से अधिक उपयोगकर्ताओं के द्वारा एक ही समय में अलग-अलग कार्यों को किया जाता है जिसे सम्मान करने के लिए सीपीयू के द्वारा Time sharing की जाती हैं इसका लाभ यह है कि इससे आप अलग-अलग प्रोसेसिंग यूनिट लगाने के लिए खर्च एवं जगह को बचा सकते हैं टाइम शेयरिंग का उदाहरण है

रेलवे रिजर्वेशन सिस्टम जहां एक ही समय में अनेक व्यक्ति रिजर्वेशन टिकट प्राप्त करने की कोशिश करते हैं परंतु इसमें इस व्यक्ति का रिजर्वेशन रिक्वेस्ट पहले आता है पहले उसी को व्यर्थ देने का कार्य किया जाता है

Time sharing सिस्टम मल्टीप्रोग्रामिंग की तरह ही कार्य करता है इस सिस्टम को Multiprogramming System का विस्तार रूप माना जा सकता है इन दोनों में मुख्य अंतर यह है कि Multiprogramming System में अधिकतम जोर सीपीयू को अधिक से अधिक उपयोग करने पर दिया जाता है जबकि Time sharing सिस्टम में Response time को कम करने पर जोर दिया जाता है

Parallel and Distributed Operating System-

Distributed सिस्टम में कंप्यूटर किसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए स्वतंत्र रूप से अन्य कंप्यूटर से communication कर सकते हैं या कम्युनिकेशन के लिए जानकारियों को स्थानांतरित करते हैं और अर्थात या एक दूसरे को मैसेज भेजते हैं इस मैसेज के द्वारा वह दूसरे कंप्यूटर से सभी प्रकार के कार्य को करा सकते हैं जैसे उन्हें किसी प्रोग्राम को एग्जीक्यूट करना होता है तो इसके लिए मैसेज पास किया जाता है इसमें कंप्यूटर के पास अपनी मेमोरी सीपीयू होती हैं जिसे किसी अन्य कंप्यूटर के साथ साझा नहीं करते Distributed सिस्टम में निम्न दो प्रकार के तकनीक होते हैं जिसके द्वारा कंप्यूटर सिस्टम को संगठित किया जाता है Types of operating system

जिसके द्वारा कंप्यूटर सिस्टम को संगठित किया जाता है ये दो प्रकार के होतें हैं
  • Client Server Architecture
  • Peer to Peer Architecture

Operating System क्या हैं ?

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर और Computer उपकरण के ग्राहक के बीच एक प्रतिनिधि के रूप में कार्य करता है। एक कामकाजी ढांचे के पीछे प्रेरणा एक ऐसा माहौल देना है जिसमें एक ग्राहक सहायक और उत्पादक रूप से कार्यक्रमों को क्रियान्वित कर सके।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार (Types of operating system )

Simple Batch System
Multiprogramming Batch System
Time Sharing System
Parallel And Distributed Operating system

Disadvantages of simple batch processing

इसमें किस जॉब को पहले करना है और इसके बाद में इसके लिए प्राथमिकता का निर्धारण करने के लिए कोई सूत्र निर्धारित नहीं किया गया है
इसमें उपयोगकर्ताओं और सिस्टम के बीच बिल्कुल भी कम्युनिकेशन नहीं होता है जिसकी वजह से अनेक जॉब ऐसे होते हैं जो ऑपरेटर के द्वारा गलत तरीके से कर दिया जाता है

Distributed सिस्टम में निम्न दो प्रकार के तकनीक होते हैं

जिसके द्वारा कंप्यूटर सिस्टम को संगठित किया जाता है ये दो प्रकार के होतें हैं
Client Server Architecture
Peer to Peer Architecture

Thanks You

मैं आसा करता हु दोस्तों आप सभी को ये पोस्ट Types of operating system( Operating system ke prakar) ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार ? पसंद आया होगा | दोस्तों इस पोस्ट से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकतें हैं या आप नीचें कमेंट के माध्यम से भी संपर्क कर सकतें हैं 

Note :  इस पोस्ट से संबंधित किसी प्रकार की जानकारी / शिकायत / सुझाव / आदि के लिए आप हमे ईमेल कर सकतें हैं  यदि इस पोस्ट से सबंधित किसी को कोई आप्पति होती हैं तो आप हमे बता सकतें  इस पोस्ट को अपडेट या 24 घंटें के भीतर पोस्ट डिलीट कर दिया  जायेंगा |

इन्हें भी जरुर पढ़ें

Computer network kya hain( What is Computer network) | Types of Computer network

3 thoughts on “Types of operating system( Operating system ke prakar ) ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होतें हैं?”

Leave a Comment